पहले निकाला रोष मार्च, फिर लघु सचिवालय पर दी गिरफतारियां

484
पंचकूला में निहत्थे कर्मचारियों पर लाठीचार्ज के विरोध मेे सडक पर उतरा सर्व कर्मचार संघ
यमुनानगर।  सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के आह्वान पर पंचकूला में 10 सितंबर को शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे निहत्थे कर्मचारियों पर लाठीचार्ज के विरोध में संघ से जुडे सैकडों कर्मचारियों ने लघु सचिवालय में प्रद र्शन के उपरांत गिरफ़तारी दी।
इससे पूर्व यमुनानगर के  सभी विभागों के कच्चे व पक्के कर्मचारी  कन्हैया साहिब चौक स्थित पार्क में इकट्ठा हुए।  यहां से जुलूस की शक्ल में दमन पर रोक,लगाओ हरियाणा सरकार होश में आओ;किए गए वादों को निभाओ घोषणा पत्र में  किए गए वादों को पूरा करो, के गगनभेदी नारे लगाते हुए सचिवालय की ाओर बढे। गिरफ़तारी देने वालों मेे बडी संख्या में महिलाएं भी थी। प्रदर्शनकारियों को  जिला प्रधान व सचिव राजपाल सांगवान, जन शिक्षा अधिकार मंच के राज्य संयोजक जरनैल सिंह सांगवान, जिला संयोजक महिपाल चमरौड़ी
बिजली विभाग से  जोत सिंह रावत  कृष्ण चंद,सैनी विक्रम सिंह  नायब सिंह,रामकुमार कंबोज  सोभन सिंह,निगम के नेता जरनैल सिंह चिनालिया, मांगेराम  तिगरा,राजकुमार  सिसौली  प्रवेश परोचा, शिक्षा विभाग से राकेश धनखड़, जगपाल सिंह, संजय कंबोज, सुशील कुमार, वीरेंद्र शर्मा, प्रीतम सिंह बालियान, यशपाल, रोडवेज से रतन सिंह कलानौर नंदलाल एमडीएम से सरबती  आंगनवाडी से मीनाक्षी शर्मा व रेखा सैनी, सुनीता,कविता,स्वास्थ्य विभाग से संतोष सैनी, अतिथि अध्यापकों से संत राम, सतपाल शर्मा,जसबीर चिक्कन  फायर ब्रिगेड से मानसिंह गुलशन वन विभाग से विनोद अमरीक  नरेश सैनी  PWD से  सतीश राणा राजेंदर मेवाराम पब्लिक हेल्थ से सुरेंद्र रामपाल, प्रेम,चतुर्थ श्रेणी शिक्षा विभाग से राजकुमार, सुरेंद्र, भीम, क्लेरिकल से रजनीश शर्मा विक्रम व अन्य सभी विभागों के नेताओं ने संबोधित किया।
सरकार से मांग की कि रेवाड़ी में हुई बेटी से  दरिंदगी के आरोपियों को तुरंत गिरफ्तार किया जाए व FIR  दर्ज न करने करने वाले पुलिस अफसरों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए। सरकार अपनी बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के नारे पर काम करते हुए बेटी को जल्द से जल्द न्याय देने का काम करें दादागिरी वह  गुंडागर्दी  और  धक्काजोरी पर रोक लगाए।
ये है मांगे
प्रचार सचिव र्स्वास्थ्य विभाग के एमपीएचडब्ल्यू, कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के कर्मचारियों की हड़ताल का  बातचीत से समाधान करना,रोडवेज व स्वास्थ्य कर्मचारियों पर एस्मा के तहत की गई उत्पीड़न के कारण वापस लेने और आदेश के द्वारा हाईकोर्ट के निर्णय से प्रभावित कर्मचारियों की नौकरी बचाने,सभी कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने के समर्थन में, एनपीएस को रद्द करने व पुरानी पेंशन स्कीम बहाल करने की मांग को लेकर, समान काम समान वेतन लागू करने मकान किराया भत्ता सहित अन्य भत्तों में तुरंत बढ़ोतरी की जाए।

Leave a Reply