यमुनानगर मुकन्द लाल जिला नागरिक हस्पताल में मनाया गया विश्‍व श्रवण दिवस

5

यमुनानगर। मुकन्द लाल जिला नागरिक हस्पताल, यमुनानगर में विश्‍व श्रवण दिवस मनाया गया। इस अवसर पर कार्यवाहक सिविल सर्जन, यमुनानगर डॉ. विजय दहिया मुखयातिथि के तौर पर उपस्थित रहे। डा0 विजय दहिया ने उपस्थित सभी मरीजों व उनके परिजनों तथा अन्य श्रोताओं को बताया कि कान के बहरेपन से बचने के लिये कान की उचित देखभाल बहुत जरूरी है। बहरेपन से बचने के लिये हमें क्या-क्या कदम उठाने चाहियें, इस बारे में विस्तार से समझाया। मां को अपने छोटे बच्चों को अपना दूध पिलाना अति आवश्यक है। जिससे बच्चे में रोगों से लडने की क्षमता बनती है। मां को अपने बच्चे को दूध हमेशा बैठकर ही पिलाना चाहिये व बच्चे के कान में किसी प्रकार की नुकीली चीज लगने या कान में पानी जाने से परहेज करना चाहिये। डॉ. विजय दहिया जो कि एनपीपीसीडी प्रोग्राम के यमुनानगर जिले के नोडल अधिकारी भी हैं, ने बताया कि जिले में एनपीपीसीडी  प्रोग्राम को भी जल्दी क्रियान्वित किया जाना है, जिसके तहत फील्ड के सभी डाक्टर व स्टाफ को प्रशिक्षण दिया जाना है, ताकि वे समय रहते कान की बीमारी से ग्रस्त मरीजों का यथा संभव ईलाज कर सकें और मरीज को जिले के सरकारी अस्पताल में कार्यरत नाक, कान व गला रोग विशेषज्ञ के पास भेज सकें। इस अवसर पर नागरिक अस्पताल, यमुनानगर के कार्यवाहक चिकित्सा अधीक्षक, डाॅ कुलजीत सिंह ने बताया कि बहरेपन के 3 स्तर होते हैं। उन्होने बहरेपन के कारणों, मुख्‍ य लक्षणों व उसके ईलाज के तरीकों के बारे में विस्तार से बताया। कान के बहरेपन से बचाव कैसे किया जा सकता है, इस बारे में भी जानकारी दी। इस अवसर पर डाॅ छवि मेहता, नाक, कान व गला रोग विशेषज्ञ ने बताया कि कान, नाक व गले के रोगों से संबंधित सभी ऑप्रेशन सरकारी अस्पताल में मुफत किये जाते हैं। सभी मरीजों को इसका ज्यादा से ज्यादा लाभ उठाना चाहिये। इस अवसर पर डाॅ विकास अरोडा, डाॅ अश्विनी अल्माडी, डाॅ शिव कुमार, श्रीमती मिथलेश व श्रीमती दीप्ति के साथ-साथ अस्पताल का अन्य स्टाफ भी उपस्थित रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here