स्वास्थ्य विभाग दवारा पूरे जिले में मनाया गया राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस

26

यमुनानगर। स्वास्थ्य विभाग यमुनानगर द्वारा पूरे जिले में राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस मनाया गया। इसका शुभारंभ सिविल सर्जन, डाॅ कुलदीप सिंह के मार्गदर्शन में उप-सिविल सर्जन स्कूल हैल्थ डाॅ सुनील कुमार, जिला नोडल अधिकारी डा0 बुलबुल कटारिया, जिला किशोर स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ मधु शर्मा, द्वारा न्यू हैप्पी पब्लिक स्कूूल, यमुनानगर में किया गया। इस मौके पर उप-सिविल सर्जन (प्रतिरक्षण) डाॅ विजय विवेक, उप-सिविल सर्जन पीएनडीटी डाॅ राजेश परमार, जिला मास मिडिया अधिकारी सुदेश काम्बोज, खण्ड शिक्षा अधिकारी जय सिंह, प्रधानाचार्य डाॅ बिन्दु शर्मा, निर्देशक जीएस शर्मा, प्रबन्धक विकास शर्मा, विद्यालय व पूरा स्कूल स्टाफ, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी/कर्मचारी व अन्य समाजसेवियों द्वारा राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के अवसर पर सभी स्कूली बच्चों के साथ स्वयं ऐलबेन्डाजोल गोली खाकर कार्यक्रम को सफल बनाया। सभी बच्चों ने इस गोली को खुश होकर खाया। उन्होंने स्पष्टï किया कि जिला के सभी बच्चे पेट के कीड़ो से मुक्त हो इसके लिए उपायुक्त गिरीश अरोरा ने इस अभियान को पूरे जोरो-शोरो से चलाने के निर्देश दिए है और वे इस अभियान पर कड़ी नजर रखे हुए है। उप-सिविल सर्जन स्कूल हैल्थ डाॅ सुनील कुमार द्वारा विस्तृत जानकारी देते हुए ऐलबेन्डाजोल गोली की महत्ता के बारे में बताया कि यह गोली पेट के कीडों को मारती है तथा कीडों के द्वारा होने वाली खून की कमी तथा उनसे होने वाली अन्य बिमारियों से बचाव करती है। इस कार्यक्रम के तहत यमुनानगर जिले में सभी सरकारी, सरकारी मान्यता प्राप्त व प्राइवेट स्कूलों के कक्षा 1 से 12 तक के सभी बच्चों तथा सभी आंगनवाडी केन्द्रों में सबला लडकियों तथा गैर पंजीकृत बच्चों जैसे कि ढाबों, भटटों आदि पर काम करने वाले बच्चों को ऐलबेन्डाजोल की खुराक खिलाई जा रही है। इसके अन्तर्गत 1052 स्कूलों में लगभग 2,50000 बच्चों को तथा 1281 आंगनवाडी केन्द्रों में ऐलबेन्डाजोल की गोली खिलाई जाएगी। जो बच्चे किसी भी कारणवश 08 फरवरी 2019 को दवाई लेने से छूट जाएंगे उन्हे 14 फरवरी 2019 को दवाई खिलाई जाएगी। सिविल सर्जन डा0 कुलदीप सिंह द्वारा जानकारी देते हुए बताया कि हरियाणा में लगभग 50 प्रतिशत बच्चें कृमि सक्रमंण से ग्रसित है। राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस पर स्कूल हैल्थ प्रोग्राम के अन्तर्गत समंस्त देश में 1 से 19 साल तक के बच्चों को कृमि नाशक दवाई ऐलबेन्डाजोल खिलाई जाती है। इस कार्यक्रम को सफल बनाने हेतू सभी जिलावासियों से पूर्ण सहयोग की अपील की जाती है, ताकि बच्चों का भविष्य स्वस्थ व सुरक्षित किया जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here