पेंशन बहाली संघर्ष समिति ने 26 नवंबर को संसद मार्च के लिए किया आह़वान

12

यमुनानगर। दीनबंधु छोटूराम थर्मल पॉवर प्लांट यमुनानगर में पेंशन बहाली संघर्ष समिति यमुनानगर की मीटिंग हुई। इस मीटिंग की अध्यक्षता जिला प्रधान शशि भूषण ने की। मीटिंग में थर्मल पॉवर प्लांट के पेंशन विहीन कर्मचारियों को 26 नवंबर 2018 की संसद मार्च में अधिक से अधिक संख्या में भाग लेने के लिए प्रेरित किया गया। राज्य सचिव विजेंद्र कुमार ने विस्तारपूर्वक 26 नवंबर की रणनीति पर चर्चा की। नई पेंशन स्कीम कर्मचारियों के साथ धोखा है। सांसद, विधायक सिर्फ एक नहीं, दो- तीन पुरानी पेंशन ले रहे हैं और कर्मचारियों को नई पेंशन के नाम पर पेंशन का लोलीपॉप दे रहे हैं। क्योंकि इस समय नई पेंशन के अन्तर्गत सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों को हजार – बारह सौ की मासिक पेंशन बन रही है। केंद्र व राज्य सरकारें रिटायरमेंट के बाद कर्मचारियों को प्राइवेट कंपनियों के हवाले छोड़ना चाहते हैं। इसीलिए अब कर्मचारियों को अपने हक़ की लड़ाई लड़ने पर मजबूर होना पड़ा है। संघर्ष की इस कड़ी में हरियाणा में 7 अक्टूबर की पेंशन अधिकार रैली की सफलता के बाद राष्ट्रीय स्तर पर नेशनल मूवमैंट फॉर ओल्ड पेंशन स्कीम के बैनर तले 26 नवंबर को संसद मार्च के लिए पूरे देश से लाखों पेंशन विहीन कर्मचारियों को पुरानी पेंशन बहाली की एकमात्र मांग पर एकत्रित होने का आह्वान किया गया है।राज्य कार्यकारिणी सदस्य अमित सिंह ने बताया कि वर्तमान समय में कर्मचारियों के हितों के लिए एकमात्र मुद्दा पुरानी पेंशन बहाली ही है। देश भर के सभी कर्मचारी संघों ने पेंशन बहाली के लिए नेशनल मूवमैंट फॉर ओल्ड पेंशन स्कीम को समर्थन दिया है। थर्मल पॉवर प्लांट के सभी कर्मचारियों ने संसद मार्च में अधिक से अधिक संख्या में पहुंचने का आश्वासन दिया। 20 नवंबर को पेंशन बहाली संघर्ष समिति यमुना नगर की विश्राम गृह जगाधरी में महत्वपूर्ण जिला स्तरीय मीटिंग होगी जिसमें दिल्ली की संसद मार्च बारे रणनीति बनाई जाएगी। मीटिंग में सभी ब्लॉकों की पदाधिकारी व सभी पेंशन पीड़ित साथी पहुंचेंगे। आज मीटिंग में संजीव कुमार, रामपाल तंवर जिला आईटी सैल, सुरेश सागर, वीरेंद्र सिंह कोषाध्यक्ष, अमित सिंह, विजेंद्र कुमार आदि साथी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here