बहुदेशीय स्वास्थ्य कर्मचारियों की हड़ताल तीसरे दिन भी जारी

63

यमुनानगर। यमुनानगर में बहुउद्देशीय स्वास्थ्य कर्मचारी जिले की सभी स्वास्थ्य सेवाएं रोकते हुए मुकंदलाल नागरिक हस्पताल में अनिश्चितकालीनहड़ताल पर बैठे हुए है। आज की हड़ताल की अध्यक्षता स्टेट केशियर संतोष सैनी व जिला प्रधान अंजू शर्मा ने की तथा मंच संचालन जिला सचिवसुरेश कुमार व वीरेंद्र कुमार ने किया। राज्य वित्त सचिव संतोष सैनी ने बताया की 28 अगस्त को राज्य स्तरीयएसोसिएशन प्रतिनिधिमंडल डॉo सतीश अग्रवाल महानिदेशक स्वास्थ्य सेवाएं हरियाणा, सरकार पंचकूला, डॉ सेठी व डॉ आदित्य चौधरी निदेशकस्वास्थ्य सेवाएं से वार्तालाप हेतु पंचकूला में मिला था । वहा पर उनके द्वारा राज्य प्रधान बहन ओमपति कादयान व राज्य स्तरीय प्रतिनिधिमंडल को मांगों के शीघ्र लागू होने का आशवासन दिया गया ओर साथ ही समय भी मांगा गया । राज्य स्तरीय प्रतिनिधिमंडल ने स्पष्ट रूप से कहा कि जब तक एसोसिएशन की मांगे पूरी नही होती तब तक हड़ताल जारी रहेगी । उप प्रधान सुनीता शर्मा में कहा कि सरकार एसोसिएशन की मांगों को जायज मानते हुए भी बहुत लंबे समय से टरकाऊ और अड़ियल रवैया अपनाते हुए एक साल से किसी भी मांग की नोटिफिकेशन जारी नही कर रही है जिससे सभी बहुउद्देश्यीय स्वास्थ्य कर्मचारियों में भारी रोष है । हरियाणा के सभी 22 जिलों के सभी बहुदेशीय स्वास्थ्य कर्मचारी सारी स्वास्थ्य सेवाएं पूर्ण रूप से रोकते हुए अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं । हड़ताल के दौरान सर्व कर्मचारी संघ के यमुनानगर जिले के प्रधान महिपाल सोडे ने यह बताया कि बहुउद्देशीय स्वास्थ्य कर्मचारी काफी लंबे समय से अपनी मांगों को लेकर संघर्ष कर रहे है। सरकार कर्मचारियों को जूठे आश्वासन देकर परेशान कर रही है और सरकार एसोसिएशन की सभी जायज मांगों कोपूरा करे नही तो आंदोलन और उग्र होगा और सर्व कर्मचारी संघ इस आंदोलन में बढ़ चढ़ कर भाग लेगा ।
कोषाध्यक्ष रोहित कक्कड़ ने बताया कि जिला स्तर पर बहुदेशीय स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवाएं बन्द होने के कारण आम जनता को काफी नुकसान हो रहा है । स्वास्थ्य विभाग की रीड़ कि हड्डी कहे जाने वाले व स्वास्थ्य सेवाओं को जमीनी स्तर पर पहुचने वाले सभी बहुदेशीय कर्मचारी ही यदि हड़ताल पर होंगे तो सभी स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा जाएगी । टीoबीo से सम्भन्दित कार्य जिसमे टीoबीo केरोगियों को मेडिसिन देना व समयनुसार फॉलो उप करना बंद पड़ा है । डोर टू डोर जाकर मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया जैसे रोगों की जागरूपतां वरक्तपटिका बनाने का कार्य भी नहीं हो रहा है । मलेरिया सीजन होने के कारण मलेरिया रोग से ग्रस्त रोगियों की संख्या भी बढ़ती जा रही है ।
उनकेरेडिकल ट्रीटमेंट का कार्य भी हमारे द्वारा किया जाता है जो कि अब नही हो रहा है  । इसका फायदा प्राइवेट क्लीनिक व प्राइवेट हस्पताल उठा रहे है वेआम जनता से बुखार होने पर ब्लड स्लाइड व किट टेस्ट के 150 रुपये से 200 रुपये चार्ज कर रहे है जो कि हमारे द्वारा निशुल्क किया जाता है ।बहुदेशीय स्वास्थ्य कर्मचारी महिला द्वारा उप स्वास्थ्य केंद्र पर ओoपीoडीo गर्भवती महिलाओं का रजिस्ट्रेशन व टीकाकरण उप स्वास्थ्य केंद्र वआंगनवाड़ी में जाकर किया जाता है । डिलीवरी हट पर नार्मल डिलीवरी भी की जाती है जो कि अब पूर्ण रूप से स्वास्थ्य सेवाएं बन्द होने के कारण नहीहो रही है । बच्चो के टीकाकरण का कार्य भी नही हो रहा है । जन्म मृत्यु के पंजीकरण का कार्य जो कि निशचित अवधि के अंदर किया जाता है वहअभी भी लंबित पड़ा हुआ है । सारी स्वास्थ्य सेवाएं हर गांव में ठप पड़ी है और जब तक हमारी मांगों की अधिसूचना जारी नही की जाती तब तक इसीतरह ठप रहेगी ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here