ऐसा मंदिर, जहा नहीं पड़ता सूर्य ग्रहण का कोई प्रभाव

131

#यमुनानगर_हलचल श्री-श्री108श्री अखिलानंद महाराज जी का कहना है कि हरियाणा के यमुनानगर मे प्राचीन सूर्यकूण्ड मन्दिर जहा सूर्यग्रहण के समय सूर्यग्रहण का कोई असर नही होता. पूरे भारत वर्ष मे केवल दो ही एसे मन्दिर है. जहा सूर्यग्रहण का कोई असर नही पडता. सूर्यग्रहण के मौके पर भी ये दोनो मन्दिर खुले होते है. बताया जाता है कि भारतवर्ष मे इस तरह के 68 कुण्‍ड है. लेकिन पूरे भारतवर्ष मे सूर्यकुण्‍ड मन्दिर केवल दो ही है.

सूर्यग्रहण के अवसर पर जहा देश भर मे मन्दिर बंद रहते है. वही यमुनानगर मे सूर्यकुण्‍ड मन्दिर खुला होता है. पूरे भारतवर्ष मे केवल दो ही एसे मन्दिर है. जो सूर्यग्रहण के समय भी खूले रहते है. वही उडीस के कोनार्क और हरियाणा के यमुनानगर स्थित सूर्यकुण्‍ड मन्दिर पर सूर्यग्रहण का कोई प्रभाव नही पडता. यमुना के किनारे स्थित प्राचीन सूर्यकुण्‍ड मन्दिर देश के कोने-कोने से साधु-संत यहा पर आते है. सूर्यग्रहण के दौरान ये साधु-संत सूर्यदेव का जाप करते है.

मन्दिर के पुजारी श्री-श्री108श्री अखिलानंद जी महाराज ने बताया कि सूर्यग्रहण के समय जो भी मन्दिर के प्रागंण मे आने-वाले किसी भी प्राणी पर ग्रहण का कोई असर नही पडता. वही स्‍वामी जी का कहना है कि मन्दिर के प्रागंण मे सूर्यकुण्‍ड इस प्रकार से बना है कि सूर्य की‍ किरणे इस प्रकार पडती है. ‍वो कुण्‍ड मे ही समा जाती है. वही स्‍वामी जी ने बताया कि त्रेता के मध्‍य से कुछ पूर्व सूर्यवंश के राजा मंधाता ने सौभरी ऋषि को आर्चाय बना कर राज सूर्ययज्ञ किया. मंधाता के ऋषि ने यज्ञ भूमि को खुद वा कर उस मे पानी भर वा दिया और इस कुण्‍ड का नाम सूर्यकुण्‍ड रख दिया.

पूरे भारतवर्ष मे इस तरह के 68 कुण्‍ड है. लेकिन पूरे भारतवर्ष मे सूर्यकुण्‍ड मन्दिर केवल दो ही है. सूर्यकुण्‍ड मन्दिर मे देश के अलग-अलग कोनो से आये साधू-संत भी मन्दिर की विशेषता से प्रभावित है. इन साधू-संत का कहना है कि सूर्यग्रहण के प्रभाव से बचने के लिए सूर्यदेव की अराधना करते है. इस सूर्यकुण्‍ड मन्दिर सूर्यग्रहण का किसी तरह का कोई दुष्‍प्रभाव नही पडता. इस लिए सूर्यग्रहण के समय साधू-संत इस मन्दिर मे आ कर अपने-आप को सुरक्षित समझते है. वही श्रदालूओ का भी इस मन्दिर पर पूरी आस्‍था है. प्राचीन इस मन्दिर मे प्रवेश करते ही मन मे शान्ति का अनुभव होता है और ग्रहण के समय मन्दिर मे रह कर पूजा-अर्चना करते है.

#YamunanagarHulchul #Yamunanagar_Hulchul #यमुनानगरहलचल #यमुनानगर_हलचल Visit us at https://www.yamunanagarhulchul.com/

 

Leave a Reply