अभिभावक अपने बच्चों का  ‘कम लागत में उच्च पोषण’ सुनिश्चित करें

231
राष्ट्रीय पोषण माह के अंतर्गत पोषण जागरूकता पर बैठक आयोजित।
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय कैम्प में राष्ट्रीय पोषण माह की गतिविधियों का आयोजन किया गया। विद्यालय प्रबंधन समिति की बैठक में बच्चों को उचित पोषण किस प्रकार प्राप्त हो, हैंड वाश, किचन गार्डन, बाजरे के पोषक गुण, अच्छा स्वास्थ्य, शुद्ध पेय जल आदि मुद्दों पर चर्चा की गई।
बैठक का शुभारम्भ प्रधानाचार्य परमजीत गर्ग, मौलिक मुख्यधयापक दलीप सिंह, मुख्य शिक्षिका रजनी शर्मा ने किया। बैठक को संबोधित करते हुए विज्ञान अध्यापक दर्शन लाल ने कहा कि अभिभावकों को ‘कम लागत में उच्च पोषण’  पर प्रशिक्षित करना होगा। इसके लिए उचित समय पर उचित खाद्य पदार्थ (पोषक व सस्ता) का चयन करना होता है। जैसा कि सभी जानते हैं कि हरेक फल व सब्जियां अपने हार्वेस्टिंग सीजन में ही सबसे सस्ते होते हैं इसलिए वही उचित समय होता है कि अभिभावक अपने बच्चों का  ‘कम लागत में उच्च पोषण’ सुनिश्चित करें। कुछ वनस्पतियां जैसे किन्नू, नाशपती, सेव, निम्बू, मटर, गोभी, जिमीकंद, कटहल, घीया, तोरी, मूंगफली, बाजरा, मक्की, सोयाबीन, आम, पालक, बथुआ आदि बहुत सी मौसमी वनस्पतियां है जो कुछ समय के लिए बहुत सस्ती हो जाती है तो उस समय उसका तिरस्कार ना करके उनका ही भरपूर सेवन करना चाहिये। मोटे अनाजों को भी भोजन का महत्त्वपूर्ण भाग बनाना चाहिये।
खंड शिक्षा अधिकारी जयसिंह जुल्का, खंड जगाधरी मिड डे मील प्रभारी उमेश अरोड़ा के कुशल निर्देशन में इस विद्यालय में यह प्रयास किये जा यह हैं कि बच्चों को उचित पोषण प्राप्त हो। गौरतलब है कि विद्यालय के बालवैज्ञानिकों की एक टीम गत वर्ष से ‘कम लागत में उच्च पोषण’ विषय पर एक परियोजना भी कर रहे हैं जिसके सभी लेख शिक्षा निदेशालय से प्रकाशित पत्रिका ‘शिक्षा सारथी’ में प्रकाशित हुए हैं।
आज ही विद्यालय प्रबंधन समिति की प्रधान उषा रानी व सदस्यों ने मिड डे मील खाकर गुणवत्ता की जांच की। उन्होंने हैंडवाश व शुद्ध पेयजल की भी निगरानी की। मौके पर बैठक में रजनी शर्मा, अर्चना काम्बोज, जी पी सिंह, संजीव बक्शी, मीनाक्षी, पूनम, निधि, साइरा बानो, मीरा देवी, चिंता देवी, उषा रानी, अनीता मौजूद रहे।

Leave a Reply