पंचनंद शोध संस्थान की बैठक में पुलवामा में शहीद हुए जवानों को पुष्प अर्पित कर दी श्रद्धांजलि

8
यमुनानगर। पंचनंद शोध संस्थान की एक विशेष बैठक मधु कालोनी स्थित बरदा रेमिडियल सैंटर में राजकीय वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय बिलासपुर के प्राचार्य मुकेश शर्मा की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। इस बैठक में हाल ही में जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में शहीद हुए सेना व  सैनिक/पुलिस बल के जवानों को पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई। इस अवसर पर सभी सदस्यों ने घटना को कायराना, निर्दयतापूर्ण व हदय को विर्दीण करने वाली तथा भारत माता के सम्मान पर प्रहार करने वाली बताया और भारत सरकार से हमलवरों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही का अनुरोध किया ताकि भविष्य में इस तरह की घटनाओं की पुनरावृति ना हो। संस्थान के अध्यक्ष सुरेश पाल ने कहा कि पुलवाला में घटित आंतकवादी घटना अब तक की सबसे वीभत्स घटना है आज हमें राष्ट्रीय भावना से ओतप्रोत होकर अपने सैनिको के साथ खड़े होकर उनका तथा उनके परिवारों का मनोबल बढ़ाना चाहिए। डा. उदयभान व हेमंत मिश्र ने कहा कि हमें शहीदों के परिजनों का तन-मन-धन से सहयोग करना चाहिए। तरसेम चन्द ने कहा कि आज के परिवेश में अर्ध सैनिक बलों का कार्य भी सशस्त्र बलों जैसा ही है। इसलिए उन्हें भी सशस्त्र बलों की तरह सुविधाएं प्रदान की जानी चाहिए। सहायता राशि वितरण करने के लिए एक नीति बनाई जाए और वर्तमान,भूतकालीन शहीदों के परिजनों को उसका समान वितरण होना चाहिए। दिलबाग सिंह ने अपनी कविता के मध्यम से भीतरी जयचन्दों से सावधान रहने का सदेंश दिया तथा मुकेश शर्मा ने अपने सम्बोधन में राष्ट्रदोही ताकतों को पहचानने और उन्हें नष्ट करने की आवश्यकता पर बल दिया। इस बैठक में छत्रपति शिवाजी महाराज, संत शिरोमणि गुरू रविदास व राष्ट्र देवों भव: का मंत्र देने वाले गोलवरकर को भी उनके जन्मदिन पर सभी सदस्यों द्वारा श्रद्घांजलि स्मरण किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here