बाल कल्याण समिति और जिला बाल संरक्षण इकाई ने ओपन शेल्टर होम में मनाया गणतंत्र दिवस

44

यमुनानगर। शहर में चल रहे ओपन शेल्टर होम में गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर बाल कल्याण समिति और जिला बाल संरक्षण इकाई ने ओपन शेल्टर होम के बच्चों के साथ में गणतंत्र दिवस मनाया बच्चों ने गणतंत्र दिवस के उपलक्ष पर तिरंगे झंडे  की सूंदर आकृतियां बना कर अपने देशभक्ति भाव उकेरे बच्चों ने मोके पर सूंदर कवितांए सुनाई!  बाल कल्याण समिति सदस्य रूचि महाजन अंजू बाजपाई ने बच्चों को देश में मनाये जाने वाले गणतंत्र दिवस के महत्व के बारे में बताया वही जिला बाल संरक्षण अधिकारी डॉ ऋचा बुद्धिराजा और अफसर इंचार्ज सुखमिंदर सिंह ने बच्चों को देश के तिरंगे के बारे में बताया की हर देश का झंडा देश की शान होती है भारत का यह सौभाग्य है की हमारा झंडा तिरंगा है जिसमे तीन रंग है इन तीन रंगों का अपना महत्व है और इनके दार्शनिक मायने भी निकाले जाते हैं। राष्ट्रध्वज के निर्माताओं ने देश को एक सूत्र में बांधने के लिए बहुत सोच-समझकर इन तीन रंगो और अशोक चक्र का उपयोग किया। तिरंगे में मौजूद केसरिया रंग को साहस और बलिदान का प्रतीक माना जाता है। वहीं सफेद रंग सच्चाई, शांति और पवित्रता की न‍िशानी है। तिरंगे के तीसरे यानी हरे रंग को सन्पन्नता का प्रतीक माना जाता है। ये रंग मिलकर देश के गौरव का प्रतीक बनाते हैं और भाईचारे के संदेश के साथ ही जीवन को लेकर ज्ञान भी देते हैं। मोके पर ओपन शेल्टर होम के कोर्डिनेटर संजीव कुमार सामाजिक कार्यकर्ता तारिक अजीज गुरप्रीत सिंह खुशबू मीणा और गुरप्रीत कौर मौजूद रहे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here