महमुदपुर गांव से लावारिस मिली बच्‍ची को जिला बाल संरक्षण युनिट ने शिशुगृह, पंचकूला मे किया स्थानांतरित

6

यमुनानगर। 2019 को जिला बाल संरक्षण युनिट से जिला बाल संरक्षण अधिकारी डा. ऋच्चा बुद्विराजा, संरक्षण अधिकारी, प्रीती तथा आउट रीच वर्कर गौरव शर्मा एंव मुकेश कुमार सिविल हस्पताल, यमुनानगर उस बच्ची के फोलोअॅप एंव स्थानांतरण के लिए गए, जो दिनांक 7जनवरी 2019 को महमुदपुर गांव से लावारिस अवस्था मे मिली थी, उस बच्ची को जिला बाल संरक्षण युनिट व सिविल हस्पताल के संयुक्त प्रयासो से शिशुगृह, पंचकूला मे स्थानांतरित किया गया, जिसमे बच्ची की मुलभुत अवश्यकताओं को पुरा करते हुए सभी नियमों के पुरे होने के पश्चात उसे गोद प्रक्रिया मे डाला जाएगा आज इस बच्ची को शिशगृह पंचकूला मे दीर्घकालीन पुर्नवास हेतू रिस्टोर किया जा रहा है, डा. ऋच्चा जिला बाल संरक्षण अधिकारी द्वारा बताया गया कि यह बच्ची लावारिस अवस्था मे प्राप्त हुई है, और जिला बाल संरक्षण अधिकारी द्वारा दिनांक 11.01.2019 को दि ट्रिब्युन व दैनिक भास्कर अखबार के माध्यम से भी विज्ञापन दिया गया जिसमे बच्ची के परिजनों व माता-पिता को सभी साक्ष्यो के साथ कार्यालय मे सम्पर्क करने की अपील की है, ताकि यदि वे बच्ची को लेना चाहते है, तो उनके पास दो महिने का समय है, यदि दो महिने तक बच्ची को कोई भी परिजन लेने नही आता तो तब उस बच्ची को गोद प्रक्रिया हेतू कानुनी रुप से मुक्त करवाया जाएगा तथा गोद प्रक्रिया हेतू केन्द्रीय दत्तक गृहण एजेसी दिल्ली के पोर्टल करिंग पर बच्ची की सभी जानकारी एंव फोटो अपलोड की जाएगी ताकि बच्ची को कोई दम्पति जिसके द्वारा केन्द्रीय दत्तक गृहण एजेसी पर रजिस्ट्रेशन किया है, उनके द्वारा गोद लिया जा सके, उन्होने
बताया कि गोद लेने व देने के लिए जिला बाल संरक्षण युनिट मे विशेष तौर पर कांउसलिग के प्रबंध व आनलाइन रजिस्ट्रेशन की सुविधा उपलब्ध है, कोई भी जनसाधारण गोद प्रक्रिया बारे कार्यालय से सम्पर्क कर सकता
है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here