विधायक घनश्याम अरोड़ा ने सभी ज़िला वासियों को लाेहडी की दी बधाई

13

यमुनानगर। लोहड़ी के पावन पर्व पर यमुनानगर के विधायक घनश्याम अरोड़ा ने सभी ज़िला वासियों को बधाई दी और भाईचारा बनाए रखने की अपील करी। पत्रकारों से बातचीत करते हुए विधायक ने कहा कि लोहड़ी का पर्व हर साल 13 जनवरी को मनाया जाता है। यह त्योहार फसल की बुआई और उसकी कटाई से जुड़ा हुआ है। किसान अपने नए वित्तीय वर्ष की शुरुआत के रूप में लोहड़ी मनाते हैं। लोहड़ी की रात को साल की सबसे लंबी रात माना जाता है। इस त्योहार से कई आस्थाएं भी जुड़ी हुई हैं। माना जाता है कि लोहड़ी पर अग्नि पूजन से दुर्भाग्य दूर होते हैं और सौभाग्य की प्राप्ति होती है। उन्होंने कहा कि लोहड़ी पर्व को मनाने के पीछे कई पौराणिक व प्राचीन कहानिया प्रचलित हैं। उन्होंने लोहड़ी मनाने की कुछ मान्यताएं व कहानियां भी साझा करी। पंजाब में लोहड़ी का त्योहार दुल्ला भट्टी से जोड़कर मनाया जाता है। कहा जाता है कि मुगल शासन के समय में गरीबों के मददगार दुल्ला भट्टी पंजाब में रहते थे। उन्हें नायक माना जाता था। दुल्ला भट्टी ने उस समय में लड़कियों को ग़ुलामी से मुक्त करा कर उनकी शादी कराई। उन्होंने कहा कि इस त्योहार के पीछे धार्मिक आस्था भी जुड़ी हुई हैं। लोहड़ी पर अग्नि प्रज्ज्वलित करने को लेकर मान्यता है कि यह आग्नि राजा दक्ष की पुत्री सती की याद में जलाई जाती है। विधायक ने कहा कि और भी बहुत सी पौराणिक मान्यताएँ और कहानियाँ हैं जिनके चलते लोहड़ी के पर्व का एक ख़ास महत्व है। मौक़े पर ज़िला महामंत्री राजेश सपरा, ज़िला मीडिया प्रभारी सुमीत गुप्ता, मंडल महामंत्री विभोर पहुजा, कृष्ण सिंगला, आदित्य चावला, आदि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here