पी.एन.डी.टी. सिविल सर्जन की टीम ने छापा मार कर लिंग जॉंंच करते राजेश कुमार को पकडा

5

यमुनानगर। सिविल सर्जन, यमुनानगर कार्यालय द्वारा 2018 को गाँव बेन्डी, रादौर, जिला यमुनानगर में लिंग जॉंच अधिनियम के अन्तर्गत प्राप्त शिकायत के आधार पर छापा मारा गया था। सिविल सर्जन कार्यालय (पी.एन.डी.टी.) यमुनानगर को गुप्त सूत्रों से शिकायत प्राप्त हुई थी कि कोई व्यक्ति गाँव में अपनी कार में लिंग जांच करता है, अत: सिविल सर्जन  जिला उपयुक्त अधिकारी के आदेशनुसार तीन सदस्यों की टीम डॉ. राजेश कुमार उप सिविलसर्जन (पी.एन.डी.टी.) यमुनानगर, डॉ. वागीश गुटैन जिला स्वास्थय अधिकारी तथा रैनु शर्मा सी.डी.पी.ओ., सरस्वती नगर, यमुनानगर द्वारा गाँव में छापा मारा गया, तो आरोपी राजेश कुमार अपनी कार ले कर वहाँ से फरार हो गया था। परन्तु  09 जनवरी, 2019 को आरोपी राजेश कुमार को उसकी कार व फर्जी तौर पर अल्ट्रासाउन्ड करने में प्रयोग होने वाला टैबलेट व अन्य साजो-सामान के साथ लाडवा-इन्द्री के पास पुलिस द्वारा गिरफतार कर लिया गया है। इस अवसर पर डॉ. विजय दहिया, कार्यवाहक सिविल सर्जन, यमुनानगर ने बताया की अब तक जिला यमुनानगर की टीम द्वारा 46 छापे पी.एन.डी.टी. अधिनियम के अन्तर्गत मारे गये हैं तथा इसी का परिणाम है कि अब जिले के लोग भी सहयोग करने लगे हैं। आरोपी के खिलाफ भी गुप्त रूप से सूचना आम लोगों की तरफ से ही प्राप्त हुई थी तथा जल्द ही कार्यवाही करते हुये जिला प्रशासन ने आरोपी को गिरफतार कर मामले की जॉच आरभ कर दी है। तथा साथ ही डॉं. दहिया ने यह भी बताया की जिला यमुनानगर में 46 छापों के चलते लिंग अनुपात में बहुत सुधार हुआ है तथा यमुनानगर नगर जिला राज्य में प्रथम स्थान पर चल रहा है तथा लिंग अनुपात 838 से बढ कर 930 हो गया है। डॉ. दहिया ने लोगों से अपिल भी की है कि यदि वे लिंग जाँच सबंधित कोई भी कार्य अपने आस-पास होता देखें तो इसकी सूचना तुरन्त सिविल सर्जन कार्यालय यमुनानगर में दें तथा यह भी आशवासन दिया है कि जानकारी देने वाले की पहचान गुप्त रखी जायेगी तथा सरकार द्वारा सूचना देने वाले को आरोपी के पकडे जाने पर 1 लाख की ईनामी राशि भी दी जायेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here