अन्तर्राष्ट्रीय मानवता ओलम्पियाड परीक्षा व व्याख्यान से सीखा नैतिकता का पाठ

37
यमुनानगर। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय कैम्प में सतयुग दर्शन ट्रस्ट के स्वयंसेवियों द्वारा  ‘अन्तर्राष्ट्रीय समभाव ओलम्पियाड’ का आयोजन किया गया। जिसका संचालन मनीषा दूआ व पवन वधवा सहित उनकी टीम मनीष, अनिता, मंजू साजन, विनीता साजन ने किया।
परीक्षा से पूर्व प्रतिभागियों को जानकारी देते हुए स्वयंसेवियों ने विद्यार्थियों में नैतिक मूल्यों के विकास का महत्व बताया। नैतिकता पूर्ण व्यक्ति सदा सहयोगी प्रवृति का होता है, उसकी वाणी व कर्मो से किसी को दुख नही पहुचता। इस मौके पर आज साठ छात्र छात्राओं ने यह ऑनलाइन परीक्षा दी।
विज्ञान अध्यापक दर्शन लाल ने बताया कि आजकल देखने मे आ रहा है कि नैतिक शिक्षा के आभाव में कुछ विद्यार्थियों में उद्दंडता बढ़ रही है वो अपने से छोटे और बड़ों का आदर नही करते। विद्यार्थी आपस मे झगड़ना, अपशब्दों का प्रयोग करना, बहस करना व झूठ बोलना जैसी बुरी आदतों का शिकार होता जा रहा है जिस की परिणीति स्वरूप बच्चों आपराधिकता उतपन्न हो रही है।
इस परीक्षा व व्याख्यान से बच्चों को बहुतसा ज्ञान मिला। उन्होंने बड़ों का आदर, हमउम्र के साथ सहयोगी बर्ताव व छोटों के प्रति स्नेह रखने की शपथ ली। प्रधानाचार्य श्री परमजीत गर्ग ने ओलम्पियाड टीम का इस नेक कार्य के लिए आभार व्यक्त किया व बच्चों को शुभाशीष दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here