प्राचीन सभ्‍यता एवं संस्‍कृतिक हो रही है लुप्‍त, भ्रष्टाचार के बढते युवा पीढी फस रही है दलदल में

36

रादौर। समाज में फै ले भ्रष्टाचार को हम केवल भाईचारे से ही खत्म कर सकते हैं। भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिये समाज के बुद्धि जीवी लोगों को आगे आना होगा। तभी समाज में फैला भ्रष्टाचार समाप्त हो सकता हैं। यह शब्द रोटरी क्लब रादौर के प्रधान पुनित गर्ग ने कहें। उन्होंने कहा कि आज भौतिकवाद की चकाचौंध में हम अपने पुराने संस्कारों को भूलते जा रहे हैं। हमारी प्राचीन संस्कृति ने हमें अपने बडों व गुरूजनों का आदर करना सिखाया था। लेकिन आज की युवा पीढी अपने प्राचीन संस्कारों को भूल चुकी हैं। जिस कारण आज की युवा पीढी पश्चिमी सभ्यता के रंग में रंगती जा रही हैं। जिस कारण हमारी प्राचीन संस्कृति को भारी ठेस पहुंची हैं। आज अपराध व भ्रष्टाचार तेजी से बढता जा रहा हैं। युवा पीढी तेजी से अपराध व भ्रष्टाचार के दलदल में फसती जा रही हैं। बिना संस्कारों को अपनाए युवा पीढी का भ्रष्टाचार व अपराध रूपी दलदल से बाहर निकलना बहुत मुश्किल हैं। जिसके लिये हम सब को मिलजुल कर कडे प्रयास करने होगें। तभी हम नई युवा पीढी को नई राह दिखा सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here