रादौर संजय मैमोरियल स्कूल मे भगतसिंह के शहीदी दिवस पर शोक सभा का आयोजन हुआ

34

रादौर। संजय गांधी मैमोरियल पब्लिक स्कूल हरनौल में रविवार को शहीद भगतसिंह मोर्चा की ओर से एक शोक सभा का आयोजन किया गया। शोक सभा मोर्चा में के प्रधान रणधीर चौधरी व अन्य लोगों ने 1971 की लडाई के नायक रहे बिग्रेडियर कुलदीपसिंह चांदपुरी के निधन पर गहरा शोक प्रकट किया। इस अवसर पर रणधीर चौधरी ने कहा कि 4 दिसंबर 1971 को भारत-पाक युद्ध के दौरान पाकिस्तान की सेना के 2000 से अधिक सैनिकों ने लोंगोवाला पोस्ट पर अचानक रात के समय हमला बोल दिया। उस समय लोंगोवाला पोस्ट पर बिग्रेडियर कुलदीपसिंह चांदपुरी मात्र 120 सैनिकों के साथ मोर्चे पर डटे हुए थे। सेना की ओर से उन्हें अपनी पोस्ट छोडकर अपने सैनिकों के साथ रामगढ की ओर निकल जाने या मोर्चे पर डटे रहने के आदेश दिए गए। लेकिन बिग्रेडियर चांदपुरी ने किसी भी सुरत में लोंगोवाला पोस्ट न छोडने की ठानी और अपने 120 सैनिकों के साथ वह पाकिस्तानी सेना पर टूट पडे। सिक्ख रेजिमेंट ने कुलदीपसिंह के नेतृत्व में पाकिस्तानी सेना के 12 टैंकरों को नष्ट कर उनकी सेना को भारी नुक्सान पहुंचाया। रातभर लडाई चलती रही। लेकिन पाकिस्तान को लोंगोवाला पोस्ट पर कब्जा नहीं करने दिया गया। सुबह होने पर भारतीय वायुसेना मौके पर पहुंची और पाकिस्तान की सेना को तबाह कर लडाई जीती। इस प्रकार बिग्रेडियर कुलदीपसिंह चांदपुरी की वीरता के कारण भारत ने 1971 का युद्ध जीता। सरकार ने उनकी वीरता को लेकर उन्हें परमवीर चक्र देकर सम्मानित किया। ऐसे महान यौद्धा पर देश के लोगों को हमेशा गर्व रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here