राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में छात्र पुलिस कैडेट कार्यक्रम: डीजीपी बीएस संधू

16
यमुनानगर। कानून की रक्षा राष्ट्र की रक्षा है। छात्र भविष्य के निर्माता हैं। इसलिए छात्र के कंधों पर ही बेहतर राष्ट्र की जिम्मेवारी है। पुलिस और युवा जब साथ-साथ चलेंगे; तब निश्चित ही हरियाणा अपराधमुक्त हरियाणा बन सकेगा। यह बात गृह मंत्रालय के द्वारा प्रायोजित छात्र पुलिस कैडेट कार्यक्रम के तत्वाधान में थाना जठलाना के एसएचओ पृथ्वी सिंह ने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय जठलाना में उपस्थित आठवीं और नौवीं कक्षाओं के विद्यार्थियों को कही। पृथ्वी सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि हरियाणा प्रदेश में छात्र पुलिस कैडेट कार्यक्रम ( एसपीसीसी ) हरियाणा डीजीपी बीएस संधू और आईजीपी डॉ0 राजश्री सिंह के नेतृत्व में सफलतापूर्वक चलाया जा रहा है। यह प्रोग्राम मूलतः आठवीं और नौवीं कक्षा के छात्रों पर केंद्रित है। इस मौके पर स्कूल प्रिंसिपल नरेंद्र ढींगरा ने उपस्थित विद्यार्थियों को बताया कि बदलते समय में युवाओं में सुरक्षा सैनिक की भावनाओं को जागृत करने के लिए व पुलिस की अवधारणा को साकार बनाने हेतु हरियाणा पुलिस ने पुलिस कैडेट कोर यानी पीसीसी की स्थापना करने का फैसला लिया है। इसका उद्देश्य देश के युवाओं को बेहतर नागरिक बनाना है। ऐसा युवा ही श्रेष्ठ समाज और श्रेष्ठ राष्ट्र का निर्माण करता है। इसी कड़ी में इंस्पेक्टर ट्रैफिक यमुनानगर यादवेंद्र सिंह ने बताया कि पुलिस समाज की सुरक्षा के लिए है। इसलिए युवाओं के मन में पुलिस के प्रति द्वेष और भ्रम की भावना को खत्म कर युवाओं को सुरक्षा प्रहरी बनाने का यह अभियान शुरू किया गया है। उन्होंने बताया कि यह कार्यक्रम दो विषयों को कवर करेगा। ‘अपराध की रोकथाम और नियंत्रण’ विषय के अंतर्गत सड़क सुरक्षा, सामाजिक बुराइयों के खिलाफ लड़ाई, समुदाय पुलिस, महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा, भ्रष्टाचार और आपदा प्रबंधन के खिलाफ लड़ाई शामिल है। दूसरे विषय ‘मूल्य और नैतिकता’ के अंतर्गत सहानुभूति, सहिष्णुता, धैर्य, रवैया, बुजुर्गों के लिए सम्मान, टीम भावना और अनुशासन शामिल हैं। इस मौके पर सब इंस्पेक्टर यातायात हाईवे करनाल बिरखा राम, हेड कांस्टेबल यातायात हाईवे करनाल मलिक राज, हेड कांस्टेबल धर्म सिंह समेत पूरा स्कूल स्टाफ मौजूद था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here