मंडियों मेंं किसान खुले में धान डालने को मजबूर

67
यमुनानगर/ छछरौली। खिजराबाद,छछरौली मंडी में धान की फसल की आवक तेज हो गई है जबकि अनाज मंडी पहले से ही गेहूं से भरी पड़ी है। इसके चलते किसानों और आढ़तियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। एक दिन की हुई बरसात के कारण किसान धान से भारी ट्रैक्‍टर ट्रालियों को लेकर खुले आसमान के नीचे खड़ा होना पडा। इस कारण किसानों का धान पानी में भीग गया और किसानों को सरकार द्वारा बनाए गए शैड का कोई फायदा नही हुआ क्‍योंकि शैड पहले से ही गेहूं की बोरियों से भरा पड़ा है और उसमें किसी के खड़ा होने तक की जगह नही है।  इतना ही नही जो गेहूं अनाज मंडी में पड़ी है वो लगभग आधी खराब हो चुकी है। खराब गेहूं में बदबू आने लग गई है जिसके चलते सरकार को लाखों रूपए का चूना लग रहा है और ये सब अधिकारियों की लापरवाही का खामियाजा है।
 एजेंसियों द्वारा किसानों की खरीदी गई फसल को मंडियों से उठान ना करना विभाग की लापरवाही को दर्शाता है। मंडी में पडी गेहूं सड़ गई और उसमें  बदबू आने लग गई जिस कारण मंडियों में लाखों रूपए की गेहूं खराब हो गई। सही समय पर उठान ना होने से धान के सीजन में किसानों और आढतियों को भी परेशानी का सामना करना पड रहा है। किसान अनिल,वागेस,सतीस कुमार,विक्रम सिहं आदि का कहना है कि बरसात के समय में वे वीरवार को अपनी धान से भरी ट्रैक्टर टाली लेकर घंटो खुले आसमान के नीचे खड़ा होना पड़ा जिस कारण इस धान की भी जल्दी खराब होने कि संभावना हो जाती है । ओर ऐसे में संबधित विभाग कि लापरवाही के चलते जहां गेहूं का नुकसान हुआ । तो धान के खराब होने से भी इन्कार नही किया जा सकता । सबंधित विभाग समय रहते इस ओर ध्यान दे तो सरकार के होने वाले नुकसान  को बचाया जा सकता था ।
कया कहते है क्षेत्र के किसान
क्षेत्र के किसानो का कहना है कि अगर सही समय पर धान का उठान हो जाए तो राहत मंडी में धान लेकर आए किसानो का कहना है कि मंडी में धान कि आवक तेज हो गई है । मगर मंडी में धान न उठान के कारण किसानो को परेशानियो का सामना करना पड़ रहा है ।
जिला खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले नियंत्रक सुरेन्द्र सिंह ने बताया कि 10 अक्तूबर 2018 तक जिला की  छछरौली मंडी में 8804 मीट्रिक टन,   खिजराबाद मंडी में 9310 मीट्रिक टन,  धान खरीदा जा चुका हंै। उन्होंने किसानों से अपील की है कि वे अपने धान को निर्धारित मापदण्डों के अनुसार सुखाकर व साफ करके ही मंडिय़ों में लाएं।
क्‍या कहते हैं अधिकारी–इस बारे में मंडी के सचिव संत कुमार का कहना है कि हमने गेहूं उठान के बारे में सरकार को अवगत करवाया हुआ है और बहंत ही जल्द गेहूं उठान के बारे में कार्यवाही की जाएगी और आगे गेहूं डालने की जगह ना मिलने के कारण किसानों को परेशान होना पड रहा है।
रिपोर्ट : गुरजीत सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here