ठेकेदार से 10 हजार रूपये की रिश्वत लेते नगर निगम के जेई को विजिलेंस ने दबोचा

1337

सडक की पैमाइश करने के लिए ठेकेदार से मांगे थे 10 हजार
यमुनानगर। नगर निगम के जेई को विजिलेंस की टीम ने 10 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। जेई ने ठेकेदार से नवनिर्मित सड़क की पैमाइश करने के नाम पर 10 हजार रुपये मांगे थे। विजिलेंस टीम ने आरोपी जेई खिलाफ मामला दर्ज कर उसकें खिलाफ आगामी कार्रवाई आरंभ कर दी है।
ठेकेदार फूल सिंह ने बताया कि उसने विष्णु गार्डन में सड़क बनाने का ठेका पांच लाख रूपये में लिया था। ठेकेदार द्वारा सड़क का निर्माण पूरा किया जा चुका था। ठेकेदार ने कार्य पूरा होने के बाद नगर निगम के जेई रोहतक के गांव गद्दी खेड़ी निवासी भरत जून को सड़क की पैमाईश करवाने को कहा। आरोप है कि जेई भरत जून ने ठेकेदार से पैमाईश के एवज में दस हजार रूपये मांगे। ठेकेदार ने जेई को 10 हजार रूपये मंगलवार को देने को कहा और इसकी शिकायत विजीलेंंस को कर दी। विजीलैंस विभाग ने उच्चाधिकारियों को इसकी सूचना दी। जेई को रंगे हाथों पकडने के लिए नायब तहसीलदार आेम प्रकाश को ड्यूटी मैजिस्ट्रेट बनाया गया। इसके बाद विजीलेंस टीम ने ठेकेदार को साइन किए हुए दस हजार रुपये देकर जेई के पास भेजा। ठेकेदार फूल सिंह ने जेई को विष्णु गार्डन में सड़क की पैमाइश करने व 10 हजार रुपये लेने के लिए बुलाया। जेइ भरत जून ने मौके पर पहुंचकर सड़क की पैमाइश करने के बाद ठेकेदार से 10 हजार रुपये लेकर अपनी जेब में डाल लिए। ठकेदार का इशारा मिलते ही विजिलेंस की टीम वहां आ गई। टीम ने जेई की जेब से 10 हजार रुपये बरामद कर उसे गिरफ़तार कर लिया। रिश्वत आरोपी जेई वर्ष 2009 में जेई के पद पर भरती हुआ था और वर्ष 2015 में उसका रोहतक से नगर निगम यमुनानगर में तबादला हुआ था। तब से वह नगर निगम यमुनानगर मेें तैनात है। विजिलेंस इंस्पेक्टर दीपक ने बताया कि आरोपी जेई के खिलाफ रिश्वत लेने के आरोप में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। आरोपी को बुधवार को अदालत में पेश किया जाएगा।
आरोपी जेई बोला; ठेकेदार ने शादी के लिए उधार लिए 10 हजार लौटाए थे
जेइ भरत जून ने खुद को पाक साफ करार दिया है। उसका कहना है कि  ठेकेदार फूल सिंह उससे शादी में जाने के लिए  10 हजार रुपये उधार लेकर गया था। ठकेदार ने उसके उधार दिए गए पैसों को लौटाने के लिए बुलाया था। लेकिन उसने षडयंत्र रचकर उसे विजिलेंस की टीम के हाथों पकड़वा दिया। जेई का कहना है कि उसके पास ठेकेदार के अन्य किए हुए कार्यों की कमियों की वीडियोग्राफी है, जिसे वह सार्वजनिक करके अपने बेगुनाह होने का सबूत देगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here