संगीत, लिट्रेरी व फाइन आर्ट में डीएवी ने जीती ओवर ऑल ट्राफी

80

*जोनल यूथ फेस्टीवल में बजा डीएवी का डंका, एसएमएस बराड़ा कॉलेज में हुआ ४१वां जोनल यूथ फेस्टीवल
*डीएवी ने १२ आइटम्स में पहला तथा ११ में अर्जित किया दूसरा स्थान
यमुनानगर।  बराड़ा के संत मोहन सिंह खालसा लबाना गल्र्स कॉलेज में आयोजित ४१वें जोनल यूथ फेस्टीवल में डीएवी गल्र्स कॉलेज का डंका बजा। कॉलेज की टीम ने संगीत, लिट्रेरी तथा फाइन आर्ट में ओवर ऑल ट्राफी जीतकर कर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया। डीएवी की टीमों ने १२ आइटम्स में पहला, ११ में दूसरा तथा ०४ में तीसरा स्थान अर्जित किया। जो कि कॉलेज के लिए गर्व की बात है। कॉलेज में पहुंचें विजेता प्रतिभागियों का जोरदार स्वागत हुआ। कॉलेज की कार्यवाहक प्रिंसिपल डा. विभा गुप्ता ने विजेता प्रतिभागियों को बधाई दी। साथ ही कहा कि जीत का यह सिलसिला इंटर जोनल यूथ फेस्टीवल में भी जारी रहेगा। विजेता प्रतिभागियों को वार्षिक पुरस्कार वितरण समारोह में सम्मानित भी किया जाएगा।
यूथ फेस्टीवल को-ओडिनेटर एवं संगीत विभागाध्यक्षा डा. नीता द्विवेदी के मुताबिक जोनल यूथ फेस्टीवल में उत्कृष्ट  प्रदर्शन की बदौलत ही कॉलेज के २३ आइटम्स इंटर जोनल यूथ फेस्टीवल में भाग लेगें। जो कि कॉलेज के लिए गर्व की बात है। यूथ फेस्टीवल में भाग लेने से छात्राओं को अपनी प्रतिभा प्रदर्शन का अवसर मिलता और वहीं आत्मविश्वास में बढौतरी होती है। इस से पूर्व भी कॉलेज की छात्राएं राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन कर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चुकी है। जोनल यूथ फेस्टीवल में डीएवी का   ३३ आइटम्स में हिस्सा लेकर २७ आइटम्स में स्थान अर्जित करना अत्यंत सराहनीय है। उनकी जीत का श्रेय कॉलेज के स्टाफ व छात्राओं की मेहनत व लगन को दिया जाता है।
इस प्रकार रहा परिणाम-
डीएवी गल्र्स कॉलेज की टीम ने ग्रुप डांस जनरल, सोलो डांस हरियाणवी, क्लासिकल इंस्ट्रूमेंटल नॉन परकसन, ग्रुप सांग जनरल, ग्रुप सांग हरियाणवी सोलो, कार्टूनिंग, ग्रुप डांस हरियाणवी, वेस्टर्न वोकल सोलो, वेस्टर्न ग्रुप सांग, इंस्टालेशन, डिबेट तथा पॉइटिकल सिम्पोजियम में पहला स्थान अर्जित किया। जबकि पॉप सांग हरियाणवी, क्लासिकल डांस सोलो, इंडियन ऑके्रस्ट्रा, पेंटिंग, कोलॉज मेकिंग, प्रश्नोत्तरी, ग्रुप सांग हरियाणवी, माइम, लाइट वोकल इंडियन, सिम्पोजियम़ तथा हरियाणवी ऑक्रेस्ट्रा में दूसरा स्थान अर्जित किया। कोरियोग्राफी, पोस्टर मेकिंग, क्ले मॉडलिंग, डेक्लामेशन संस्कृत में कॉलेज की टीम तृतीय रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here