आयुष्मान भारत योजना के तहत रजिस्ट्रेशन शुरू, बनाए जा रहे हैं प्रोविजनल कार्ड

793

चार सरकारी अस्तालों को मिली मान्यता
10 निजी अस्पतालों ने भी किया आवदेन
यमुनानगर। आयुष्मान भारत योजना का मुख्य उद्देश्य भारत की जनता को एक स्वस्थ, सक्षम और समग्र जीवन प्रदान करना है। इस योजना के तहत 50 करोड लोगों को 5 लाख रूपए तक का स्वास्थ्य बीमा मिलेगा। आयुष्मान भारत योजना अभी प्रायोगिक परियोजना के तहत कार्यान्वित है। माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 15 अगस्त 2018 को योजना की घोषणा की गई थी तथा 25 सितंबर 2018 को इस योजना को पूर्णत: आरंभ कर दिया जायेगा। इस योजना के तहत भारतीय निवासियों को सार्वजनिक तथा निजी अस्पतालों द्वारा नकदी-रहित उपचार की सुविधा प्रदान की जायेगी। उच्च स्तरीय अस्पतालों में भर्ती व उपचार पर होने वाले खर्च की कवरेज दी जायेगी। प्रति परिवार-प्रति वर्ष 5 लाख तक के बीमे की सुविधा प्रदान होगी। योजना के अन्तर्गत परिवार के सदस्यों की सं या या उम्र की कोई पाबन्दी नहीं है। योजना में नामान्कन के पहले दिन या उससे भी पहले से चल रही बीमारियो का उपचार इसके तहत किया जायेगा। इस योजना का लाभ भारत भर में सभी सूचीबद्ध लोगो को होगा एवम् इस योजना के अन्तर्गत आयुष विंग की सभी सूविधाये भी आयेंगी।
डॉ. विजय दहिया, चिकित्सा अधीक्षक व आयुष्मान भारत के जिला नोडल अधिकारी, यमुनानगर ने बताया की इस कार्यक्रम के तहत अभी तक यमुनानगर जिले के सरकारी क्षेत्र के चार अस्पतालों को मान्यता प्राप्त हो गई है तथा मुकन्द लाल सिविल अस्पताल, यमुनानगर व उप-जिला अस्पताल, जगाधरी में कार्य भी आरंभ हो चुका है। सिविल अस्पताल यमुनानगर में अभी तक 304 लाभार्थीयों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है तथा उनमें से 190 की स्वीकृति भी प्राप्त हो गई है। अपने रजिस्ट्रेशन के लिये लाभार्थी किसी भी समय सिविल अस्पताल व उप-जिला अस्पताल जगाधरी में उपस्थित होकर अपना प्रोविजनल कार्ड बनवा सकते हैं, इसके लिये दोनों स्थानों पर हैल्प डेस्क तैयार कर उनमें आयुष्मान मित्र नियुक्त कर दिये गये है जो 24 घण्टे ड्यूटी पर उपस्थित रहेंगे। मरीज व उनके अभिभावकों से अनुरोध है कि वह अपना राशन कार्ड (नया व पुराना दोनो) तथा आधार कार्ड साथ ले कर आयें, जिससे उनहें रजिस्ट्रेशन कराने में सुविधा रहेगी।
डॉं. दहिया ने यह भी बताया की प्राईवेट सैक्टर से भी 10 अस्पतालों ने मान्यता के लिये आवेदन किया है, जिसे जिला स्तरीय कमेटी ने अनुमोदित कर प्रदेश स्तर पर अनुमोदनार्थ भेज दिया है। आयुष्मान भारत कार्यक्रम को जिला स्तर पर प्रभावी ढंग से लागू करने के लिये सात नये डॉक्टरों की नियुक्ति भी जिला व उप-जिला अस्पताल में की है, जिनमें से मुकन्द लाल सिविल हस्पताल यमुनानगर में दो स्त्री रोग विशेषज्ञ, एक जनरल सर्जन, एक छाती एवम् क्षय रोग विशेषज्ञ तथा एक रोग निरोधी चिकित्सा विज्ञान विशेषज्ञ, जबकी उप-सिविल हस्पताल जगाधरी में एक नेत्र रोग विशेषज्ञ तथा एक मेडीसन विशेषज्ञ की नियुक्ति की गई है। 25 सित बर के बाद सभी सरकारी क्षेत्र के साथ-साथ सभी मान्यता प्राप्त अस्पतालों में भी यह सूविधा पूर्णत: आर भ हो जायेगी तथा आयुष्मान भारत कार्यक्रम के तहत पंजीकृत मरीज कहीं पर भी अपना निशुल्क ईलाज करा सकेंगे। प्राईवेट अस्पताल जिनके आवेदन अनुमोदनार्थ प्रदेश मु याल्य को भेजे गये हैं, उनमें मु यत: गाबा अस्पताल, स्वामी विवेकानन्द अस्पताल, वरदान अस्पताल, कपिल अस्पताल, आई-क्यू सैन्टर, गोयल अस्पताल, एन.के.यूरोलोजी सैन्टर, केपिटल अस्पताल, महिन्द्रा अस्पताल व गर्ग ई.एन.टी. अस्पताल शामिल हैं।
योजना कि विस्तृत जानकारी देते हुए डा0 विजय दहिया ने बताया कि की पांच लाख रूपये प्रति परिवार योजना के लाभार्थी घर बेेठे ही एक मुबाईल ऐप के तहत उनका नाम लाभार्थी सूची मे है या नही यह जानकारी धर बैठे ही ”मेरा पी.एम.जेएÓÓ द्वारा ही देख पाऐगें। इसके लिए उन्हे मोबाइल न बर, राज्य, जिला, व नाम जैसी सूचनाएं अंकित कर अपना नाम सूची मे चैंक करना होगा जो सामाजिक आर्थिक, जनगणना सूची के आधार पर होगा आयुष्मान भारत योजना के तहत 10.74 करोड परिवारो के लाभ मिलने की उम्मीद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here